राजनीति

केजरीवाल ने कांग्रेस को बताया अहंकारी
Posted Date : 10-Mar-2019 9:47:24 am

केजरीवाल ने कांग्रेस को बताया अहंकारी

नईदिल्ली,10 मार्च । दिल्ली में कांग्रेस के अकेले चुनाव लडऩे के ऐलान के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने पार्टी को अहंकारी करार देते हुए दावा किया कि चुनाव में उसके उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो जाएगी.
यहां मुस्तफाबाद में एक जनसभा को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने दावा किया कि उनकी पार्टी ने कांग्रेस को गठबंधन करने के लिए राजी करने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं समझ पाई. उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस लोकसभा चुनाव में दिल्ली में अपनी जमानत गंवा बैठेगी.
दिल्ली कांग्रेस की अध्यक्ष शीला दीक्षित ने हाल ही में ऐलान किया था कि उनकी पार्टी ने एकमत से लोकसभा चुनावों के लिए आप से गठबंधन नहीं करने का फैसला किया है. इसके बाद केजरीवाल ने दावा किया कि, लोकसभा चुनावों में कांग्रेस के उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो जाएगी.
अल्पसंख्यक बहुल मुस्तफाबाद में केजरीवाल ने लोगों से यह ध्यान रखने को कहा कि उनका वोट कांग्रेस और आप के बीच नहीं बंटे. उन्होंने कहा, दिल्ली में आप को वोट दें क्योंकि सिर्फ हम ही लोकसभा चुनावों में बीजेपी को हरा सकते हैं.

आज एक करोड़ बीजेपी कार्यकर्ता निकालेंगे विजय संकल्प बाइक रैली
Posted Date : 02-Mar-2019 10:30:16 am

आज एक करोड़ बीजेपी कार्यकर्ता निकालेंगे विजय संकल्प बाइक रैली

नईदिल्ली ,02 मार्च । लोकसभा चुनावों की घोषणा से पहले बीजेपी शनिवार को देशव्यापी विजय संकल्प बाइक रैली करने जा रही है. देश भर के 4120 विधानसभा क्षेत्रों और 3500 से ज्यादा स्थानों पर इस रैली का आयोजन किया जाएगा. पार्टी का कहना है कि इसमें एक करोड़ से ज्यादा बीजेपी कार्यकर्ता भाग लेंगे. वहीं दिल्ली में भी विजय संकल्प रैली निकाली जाएगी. इसके तहत हर विधानसभा में बीजेपी के कार्यकर्ता करीब 500 से लेकर 1000 बाइक पर सवार होकर निकलेंगे.
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह आज मध्यप्रदेश के दौरे पर आ रहे हैं. वो उमरिया से मध्य प्रदेश में बीजेपी के लोकसभा चुनाव प्रचार अभियान का शंखनाद करेंगे. वो यहां विजय संकल्प बाइक रैली में शामिल होने के साथ आमसभा को भी सम्बोधित करेंगे.

शीला दीक्षित ने बुलाई इमरजेंसी मीटिंग
Posted Date : 01-Mar-2019 12:42:43 pm

शीला दीक्षित ने बुलाई इमरजेंसी मीटिंग

0-आप से गठबंधन पर बातचीत की चर्चा!  
नईदिल्ली ,01 मार्च । दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व सीएम शीला दीक्षित ने निजामुद्दीन स्थित अपने आवास पर एक इमरजेंसी मीटिंग बुलाई है. मीटिंग में सभी कार्यकारी अध्यक्ष के मौजूद रहने की चर्चा है. सूत्रों की मानें तो चर्चा ये भी है कि इस मीटिंग में आम आदमी पार्टी (आप) से लोकसभा चुनाव 2019 के लिए गठबंधन पर बातचीत हो सकती है.
लोकसभा चुनाव से ठीक पहले दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठंबधन की चर्चा एक बार फिर जोर पकडऩे लगी है. सूत्रों की मानें तो आप और कांग्रेस के बीच गठबंधन के बीच दरवाजे अभी खुले हुए हैं.
अब भी दोनों पार्टियों के बीच बातचीत का दौर जारी है. कहा जा रहा है कि आप से गठबंधन के फैसले को लेकर ही ये मीटिंग बुलाई गई है. हालांकि, आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन होगा या नहीं, यह बैठक के बाद ही तय होगा.
ये बात अलग है कि शीला दीक्षित एक बार पहले कह चुकी हैं कि वह दिल्ली में गठबंधन के पक्ष में नहीं हैं. हारुन यूसुफ, राजेश और देवेंद्र यादव दिल्ली में कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हैं और पीसी चाको प्रभारी हैं.

महागठबंधन में नहीं शामिल होगी बसपा
Posted Date : 25-Feb-2019 1:06:21 pm

महागठबंधन में नहीं शामिल होगी बसपा

0-सभी 40 सीटों पर अकेले लड़ेगी चुनाव
पटना, 25 फरवरी। लोकसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) बिहार में महागठबंधन से अलग राह पकड़ते हुए अकेले चुनाव लडऩे की तैयारी कर रही है। बसपा ने राज्य की सभी 40 सीटों पर उम्मीदवार उतारने की घोषणा कर दी है। इसको लेकर बसपा की अध्यक्ष मायावती ने राज्य के नेताओं की दिल्ली में बैठक बुलाई है। बसपा के प्रदेश अध्यक्ष भरत बिंद ने बताया कि अध्यक्ष मायावती ने इस साल होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए बिहार को निर्देश जारी किया है, जिसके मुताबिक पार्टी सभी 40 सीटों पर मजबूती से चुनाव लड़ेगी। 
उन्होंने बताया कि पूरे राज्य में बसपा के जनाधार और सक्रियता को बढ़ाने का प्रयास प्रारंभ कर दिया गया है। इस बीच, बिहार प्रदेश प्रभारी डॉ़ लाल जी मेधंकर ने एक बयान जारी कर कहा है कि राजनीतिक और जातिगत भागीदारी को ध्यान में रखते हुए सभी सीटों पर उम्मीदवारों का चयन करने का भी निर्देश अध्यक्ष द्वारा दिया गया है। उम्मीदवारों के चयन को ध्यान में रखते हुए पार्टी प्रमुख मायावती ने 28 फरवरी को दिल्ली में बिहार के नेताओं की बैठक बुलाई है।

दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के संबंध में मोदी ने जनता से बोला झूठ : केजरीवाल
Posted Date : 24-Feb-2019 11:58:08 am

दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के संबंध में मोदी ने जनता से बोला झूठ : केजरीवाल

नई दिल्ली ,24 फरवरी । दिल्ली के मुख्यंमत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली को पूर्ण राज्य के तौर पर घोषित करने की मांग करते हुए रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने को लेकर विरोध करना इस बात की स्वीकारोक्ति है कि मोदी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में झूठ बोला था। दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग को लेकर एक मार्च से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल करने जा रहे केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली की जनता झूठ और दशकों से किए जाते रहे छलावे का अब उचित जवाब देगी। 
केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने को लेकर भाजपा का विरोध का अब इस बात की स्वीकारोक्ति है कि मोदीजी ने 2014 के लोकसभा चुनावों में दिल्ली की जनता से झूठ बोला था। दिल्ली के लोग झूठ और दशकों से किए जा रहे छलावे का अब उचित जवाब देंगे।
उन्होंने कहा, आडवाणी जी ने अगस्त 2003 में गृह मंत्री के रूप में लोकसभा में दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने संबंधी विधेयक पेश किया था। प्रणब दा (पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी) की अध्यक्षता में संसदीय समिति ने दिसंबर 2003 में इसका समर्थन किया था, लेकिन अंत में यह चूक गया। क्या उनका इरादा सिर्फ दिल्ली की जनता की भावनाओं के साथ खेलने का था? दिल्लीवालों के साथ यह अन्याय क्यों? केजरीवाल ने कहा, हां, दिल्ली भारत की राष्ट्रीय राजधानी है, इसलिए केंद्र को पूरे एनडीएमसी क्षेत्र को अपने नियंत्रण में रखने दीजिए। दिल्ली के बाकी हिस्सों, जिसमें दिल्लीवासी अपनी सरकार का चुनाव करते हैं, उन्हें केंद्र के अधीन कैसे रखा जा सकता है?

रॉबर्ट वाड्रा भी रखेंगे राजनीति में कदम!
Posted Date : 24-Feb-2019 11:57:39 am

रॉबर्ट वाड्रा भी रखेंगे राजनीति में कदम!

नई दिल्ली,24 फरवरी । लोकसभा चुनावों से पहले कांग्रेस फिर से बड़ा दांव लगाने की तैयारी में है। यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद और प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा भी अब राजनीति में कदम रखने वाले हैं! 
प्रियंका गांधी के पति और व्यवसायी रॉबर्ट वाड्रा से इन दिनों प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) मनी लांडरिंग और विदेश में संपत्ति खरीदने के कारण पूछताछ की है। उन्हें कई बार ईडी के दफ्तर पूछताछ के लिए बुलाया जा चुका है। इसी बीच उन्होंने फेसबुक पर सफाई दी है। उनका कहना है कि सरकार देश के असली मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए उनके नाम का इस्तेमाल करती है। उनका कहना है कि वह जिन परिस्थितियों से फिलहाल गुजर रहे हैं उससे कुछ न कुछ सीख रहे हैं। वाड्रा ने कहा, एक दशक से अधिक समय में विभिन्न सरकारों ने मुझे बदनाम करने की कोशिश की। मेरे नाम को उछालकर देश के असल मु्ददों से ध्यान भटकाया जाता है। देश के लोगों ने धीरे-धीरे इस तरीके को महसूस करना शुरू कर दिया है और वह जानते हैं कि किसी भी आरोप में कोई सच्चाई नहीं है। लोग मेरे पास आते हैं सम्मान दिखाते हैं और मुझे शुभकामनाएं देते हैं और एक बेहतर भविष्य की कामना करते हैं।
उन्होंने कहा, मैंने जिन बच्चों की मदद की, उनसे सीखकर मैंने खुद को मजबूत बनाए रखा। दृष्टिहीन स्कूल से लेकर मदर टेरेसा अभियान, अनाथालयों में सेवा करने से लेकर विभिन्न आस्था और पूजास्थलों में जाने से लेकर, अस्पतालों और मंदिरों के बाहर मौजूद भूखों को खाना खिलाने तक। आपदा प्रबंधन और केरल, नेपाल और दूसरे स्थानों पर मदद भेजने तक। यह मेरे लिए संतुष्ट करने वाले और सीखने योग्य अनुभव थे।
ईडी को लेकर वाड्रा ने कहा, ईडी के दिल्ली और राजस्थान में मेरा जाना, लगभग आठ बार मैं वहां गया, बहुत घंटे और चूंकि मैंने हमेशा कानून का पालन किया है और मैं निश्चित तौर पर कानून से ऊपर नहीं हूं। मैं ऐसा शख्स हूं जिसने हर घटती हुई घटना से कुछ सीखा है। जो साल और महीने मैंने देश के विभिन्न हिस्सों में प्रचार करते हुए बिताए हैं खासतौर से उत्तर प्रदेश में। उन्होंने मुझे यह अहसास दिलाया है कि लोगों के लिए और ज्यादा करना चाहिए और जितना मुझसे संभव हो उनकी जिंदगी में छोटे बदलाव लाउं, जो मुझे जानते हैं उनका सच्चा प्यार, स्नेह और इज्जत जो मैंने कमाई है उसका आभारी हूं। इतने सालों के अनुभव और सीख को जाया नहीं किया जा सकता है और उन्हें बेहतर इस्तेमाल में लगाना चाहिए। एक बार यह सभी आरोप और दोष खत्म हो जाएंगे। मुझे लगता है कि मैं लोगों की सेवा में एक बड़ी भूमिका निभा सकूंगा।