व्यापार

Previous123456789...381382Next
सेबी के आदेश को पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने दी चुनौती, 4000 करोड़ रुपये की डील का है मामला
Posted Date : 21-Jun-2021 2:36:25 pm

सेबी के आदेश को पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने दी चुनौती, 4000 करोड़ रुपये की डील का है मामला

नई दिल्ली ,21 जून । पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने सेबी के उस आदेश के खिलाफ प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (सैट) में अपील की है, जिसमें बाजार निमायक ने कार्लाइल समूह के साथ प्रस्तावित 4,000 करोड़ रुपये के सौदे में शेयरधारकों के मतदान पर आगे बढऩे से रोक दिया था। नियामक ने कंपनी को निर्देश दिया था कि वह संबंधित कानूनी प्रावधानों के तहत मूल्यांकन की प्रक्रिया को पूरा करे।
इस सौदे के समाधान के लिए शेयरधारकों की वोटिंग 22 जून को होनी थी। नियामक ने कहा कि यह कंपनी के संविधान से बाहर की बात है। पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने सोमवार को शेयर बाजार को बताया कि उसने 18 जून 2021 को सेबी द्वारा जारी पत्र के खिलाफ प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण के समक्ष एक अपील दायर की है।
31 मई को प्राइवेट इच्टिी फर्म कार्लाइल ग्रुप की अगुवाई वाले निवेशकों के एक ग्रुप ने पीएनबी हाउसिंग में 4,000 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की थी। इसके तहत कार्लाइल ग्रुप की कंपनी प्लूटो इनवेस्टमेंट्स तरजीही शेयरों के आवंटन के जरिए कंपनी में 3185 करोड़ रुपये निवेश करेगी।

पीएमसी के ग्राहकों के लिए अच्छी खबर, 1,800 करोड़ रुपये निवेश करेगा यह जॉइंट वेंचर
Posted Date : 21-Jun-2021 2:36:06 pm

पीएमसी के ग्राहकों के लिए अच्छी खबर, 1,800 करोड़ रुपये निवेश करेगा यह जॉइंट वेंचर

मुंबई ,21 जून ।  सेंट्रम समूह और डिजिटल भुगतान सेवा प्रदाता स्टार्टअप कंपनी भारतपे का संयुक्त उद्यम महाराष्ट्र के संकटग्रस्त सहकारी बैंक पंजाब एंड महाराष्ट्र कोआपरेटिव बैंक में 1,800 करोड़ रुपये की पूंजी लगाएगा। सेंट्रम के एक शीर्ष अधिकारी ने इस योजना की जानकारी दी है। सेंट्रम समूह के कार्यकारी चेयरमैन जसपाल बिंद्रा ने बताया कि हमने स्मॉल फाइनेंस बैंक के लिए 1,800 रुपये की पूंजी अलग रखी है। इसे अंतत: पीएमसी बैंक में लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इसमें से 900 करोड़ रुपये पहले वर्ष में ही संयुक्त उद्यम द्वारा दिए जाएंगे। दोनों भागीदार इसका बराबार बराबर हिस्सा लगाएंगे। बाकी पूंजी बाद में लगाई जाएगी।
आरबीआई ने वित्तीय सेवा समूह की एक अनुषंगी कंपनी सेंट्रम फाइनेंशियल सर्विसेज को एक स्मॉल फाइनेंस बैंक शुरू करने की सैद्धांतिक रूप से अनुमति दी। प्रस्तावित बैंक विशेष रूप से पीएमसी का अधिग्रहण करने के लिए बनाया जाएगा। सेंट्रम फाइनेंशियल सर्विसेज ने एक फरवरी, 2021 को इस विशेष प्रयोजन से बैंक बनाने का प्रस्ताव रखा था।
डिपॉजिटर्स का कितना पैसा फंसा है
रिजर्व बैंक ने कहा कि कंपनी ने पीएमसी बैंक की ओर से प्रकाशित उस सूचना के संदर्भ में यह प्रस्ताव प्रस्तुत किया था जिसमें पीएमसी बैंक के अधिग्रहण के लिए रुचि पत्र आमंत्रित किए गए थे। पीएमसी बैंक सितंबर 2019 से रिजर्व बैंक के प्रशासन के तहत काम कर रहा है। इस बैंक में जमाकर्ताओं का 10,723 करोड़ रुपये से अधिक धन अब भी फंसा है। इसी तरह बैंक के कुल 6,500 करोड़ रुपये के कर्ज वसूली में फंसे हैं जिन्हें एनपीए घोषित किया गया है। पीएमसी के अधिग्रहण के लिए सेंट्रम समूह ने गुरुग्राम की कंपनी भारतपे के साथ मिल कर रेजिलिएंट इनोवेशन्स नाम से एक संयुक्त उद्यम कंपनी पंजीकृत की है। इसमें दोनों की बराबर की हिस्सेदारी है। मौजूदा नियमों के तहत प्रस्तावित स्मॉल फाइनेंस बैंक का प्रवर्तन सेंट्रम समूह ही होगा। बिंद्रा ने कहा कि पीएससी बैंक के भारी भरकम एनपीए और नुकसान का आगे क्या होगा, यह इस बात पर निर्भर करेगा कि इस बैंक को प्रस्तावित लघु रिण बैंक में विलीन करने के संबंध में सरकार क्या-क्या शर्तें लगाती है।

कारोबारी हफ्ते के पहले ही दिन सेंसेक्स 230 अंक चढ़ा, निफ्टी भी पहुंचा 15,700 के पार
Posted Date : 21-Jun-2021 2:35:42 pm

कारोबारी हफ्ते के पहले ही दिन सेंसेक्स 230 अंक चढ़ा, निफ्टी भी पहुंचा 15,700 के पार

मुंबई ,21 जून ।  बीएसई सेंसेक्स आज दिन के न्यूनतम स्तर से बाहर निकलते हुए 230 अंक की बढ़त के साथ बंद हुआ। वैश्विक स्तर पर मिले-जुले रुख के बीच एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी लि., भारतीय स्टेट बैंक और रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में तेजी से बाजार में मजबूती आयी। तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स शुरूआती कारोबार में 600 अंक से अधिक नीचे चला गया था। बाद में गिरावट से उबरते हुए इसमें तेजी लौटी और अंत में 230.01 अंक यानी 0.44 प्रतिशत मजबूत होकर 52,574.46 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 63.15 अंक यानी 0.40 प्रतिशत की तेजी के साथ 15,746.50 अंक पर बंद हुआ।
सेंसेक्स के शेयरों में करीब 4 प्रतिशत की तेजी के साथ सर्वाधिक लाभ में एनटीपीसी का शेयर रहा। इसके अलावा टाइटन, एसबीआई, एचयूएल, इंडसइंड बैंक और अल्ट्राटेक सीमेंट में भी अच्छी तेजी रही। दूसरी तरफ, मारुति, टीसीएस, टेक महिंद्रा और एल एंड टी समेत अन्य शेयरों में गिरावट रही। रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीति प्रमुख विनोद मोदी के अनुसार शुरूआती कारोबार में गिरावट से घरेलू शेयर बाजार तेजी से बाहर निकला और वैश्विक स्तर पर कमजोर रुख के बावजूद बढ़त के साथ बंद हुआ।
उन्होंने कहा, ‘‘सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के शेयरों में सुधार बाजार में तेजी का प्रमुख कारण रहा। रिलायंस इंडस्ट्रीज की सालाना आम बैठक से पहले कंपनी का शेयर मजबूत हुआ और बाजार को संभलने में मदद मिली। वाहन और आईटी को छोडक़र ज्यादातर प्रमुख खंडवार सूचकांक नुकसान से उबरते हुए लाभ में रहे।’’
निवेशकों ने गिरावट के बाद एक बार फिर छोटी और मझोली कंपनियों के शेयरों में लिवाली को तरजीह दी। एशिया के अन्य बाजारों में ज्यादातर में गिरावट का रुख रहा। हालांकि, यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरूआती कारोबार में तेजी रही। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.18 प्रतिशत मजबूत होकर 73.46 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ।

अडानी ग्रुप के शेयरों में गिरावट के बीच बढ़ी अडानी पोर्ट्स  स्टॉक की चमक, 2 दिन में 14 फीसदी उछला
Posted Date : 21-Jun-2021 2:35:17 pm

अडानी ग्रुप के शेयरों में गिरावट के बीच बढ़ी अडानी पोर्ट्स स्टॉक की चमक, 2 दिन में 14 फीसदी उछला

नई दिल्ली ,21 जून । अडानी ग्रुप के अधिकांश शेयरों में पिछले 6 कारोबारी दिनों से गिरावट आ रही है। लेकिन पिछले दो दिनों में ग्रुप की एक कंपनी के शेयरों में करीब 14 फीसदी उछाल आई है। अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकॉनमिक जोन के शेयर में सोमवार को कारोबार के दौरान 6.77 फीसदी उछाल आई। दोपहर बाद 12.30 बजे यह 6.72 फीसदी की तेजी के साथ 741.25 रुपये पर ट्रेड कर रहा था। इससे पहले शुक्रवार को भी इसमें 7.39 फीसदी तेजी आई थी।
17 जून को कंपनी के प्रमोटर ग्रुप ने खुले बाजार से करीब 19.3 लाख शेयरों की खुले बाजार से खरीद की थी। यह 0.09 फीसदी हिस्सेदारी के बराबर है। 19 जून को इस बात का खुलासा किया कि उसने 126.81 करोड़ रुपये में इन शेयरों की खरीदारी की। आंकड़ों में मुताबिक यह खरीदारी 656.88 रुपये प्रति शेयर के भाव पर की गई। 

टेस्ला ने ब्रिटेन में बनाई पुलिस कार, मॉडल-3 पर है बेस्ड
Posted Date : 20-Jun-2021 6:38:37 pm

टेस्ला ने ब्रिटेन में बनाई पुलिस कार, मॉडल-3 पर है बेस्ड

लंदन ,20 जून । इलेक्ट्रॉनिक कार बनाने वाली एलन मस्क की कंपनी टेस्ला ने कथित तौर पर ब्रिटेन में एक पुलिस कार बनाई है, जो कंपनी के मॉडल 3 इलेक्ट्रिक सेडान पर बेस्ड है। इसकी योजना ब्रिटेन के इमरजेंसी व्हीकल मार्केट का परीक्षण करने के लिए इसे इस्तेमाल में लाना है। टेस्ला यूके ने पुलिस लीवरेड मॉडल 3 सलून का खुलासा किया है। इसके बारे में कंपनी ने कहा कि यह परीक्षण और मूल्यांकन के लिए पूरे यूके में आपातकालीन सेवाओं के लिए उपलब्ध होगी।
इलेक्ट्रेक की रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी ने अपने वाहन की विशेषताओं का कोई जिक्र नहीं किया है, लेकिन लगता है कि इसका परफॉर्मेंस मॉडल-3 के समान ही होगी।
300 मील की रेंज के साथ इसकी अधिकतम गति 162 मील प्रति घंटा है। यह कार सिर्फ 3.1 सेकेंड में शून्य से लेकर 60 मील प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ सकती है। इसकी क्षमता एक पैट्रोल कार से कहीं अधिक है।
हाल के वर्षों में मॉडल 3 ब्रिटेन में सबसे अधिक बिकने वाली इलेक्ट्रिक कार बन गई है। हालांकि मॉडल 3 को पुलिस की गाड़ी के रूप में इस्तेमाल में लाया जाएगा, इसके बारे में फिलहाल कोई सूचना नहीं है।
रिपोर्ट में कहा गया है कि कई पुलिस विभाग ने यह पाया है कि अपनी पुरानी गाडिय़ों को टेस्ला की कारों, खासकर मॉडल 3 में अपग्रेड करके काफी सारा पैसा बचा सकते हैं।
टेस्ला की कई कारों को खरीदने वाले इंडियाना में बार्बर्सविले पुलिस विभाग ने पाया कि टेस्ला मॉडल 3 का उपयोग करने के अपने पहले साल के आखिर तक वे 6,000 डॉलर से अधिक रकम बचाने में कामयाब रहे।
फ्रेमोंट पुलिस और स्पोकेन पुलिस विभाग दोनों ने ही हाल ही में पुलिस गश्ती वाहनों के रूप में उपयोग करने के लिए टेस्ला मॉडल वाई वाहनों की खरीददारी की है। 

महामारी के दौरान मरीजों के लिए मूल्यवान उपकरण हैं स्मार्टफोन ऐप
Posted Date : 20-Jun-2021 6:38:21 pm

महामारी के दौरान मरीजों के लिए मूल्यवान उपकरण हैं स्मार्टफोन ऐप

लंदन ,20 जून । स्मार्टफोन ऐप और टेलीहेल्थ पहल में दर्द प्रबंधन (पेन मैनेजमेंट) के संबंध में स्वास्थ्य देखभाल प्रणालियों (हेल्थकेयर सिस्टम) की प्रभावशीलता एवं दक्षता और रोगियों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने की क्षमता है। अध्ययन करने वाले विशेषज्ञ इस बात पर भी जोर देते हैं कि स्वीकार्यता और उपयोगिता को बढ़ाने के लिए स्मार्टफोन ऐप और टेलीहेल्थ पहल के विकास और निर्माण में उपयोगकर्ता की भागीदारी महत्वपूर्ण है।
हालांकि, अध्ययन में यह भी सलाह दी गई है कि स्वास्थ्य प्रणाली में स्वास्थ्य डेटा के अनैतिक उपयोग को रोकने के लिए उन्नत प्रणालियों, नीतियों और प्रक्रियाओं की आवश्यकता है।
एंग्लिया रस्किन यूनिवर्सिटी (एआरयू) के एंटोनियो बोनोकारो ने कहा, हमारे शोध में पाया गया है कि ऐप के लिए वृद्ध लोगों को उनके दर्द प्रबंधन के साथ सक्रिय रूप से समर्थन देने और स्वास्थ्य पेशेवरों के साथ संचार में सुधार करने की काफी संभावनाएं हैं।
बोनोकारो ने कहा, हालांकि, टेलीहेल्थ ऐप ज्यादातर यूजर्स को विकास प्रक्रिया में शामिल किए बिना उत्पादित किए जाते हैं। सूचना साझा करने, शिक्षा और दर्द से राहत के स्व-प्रशासन की आवश्यकता लगभग पूरी तरह से उपेक्षित है।
जर्नल जेरियाट्रिक्स में प्रकाशित अध्ययन के लिए पबमेड, मेडलाइन, सीआईएनएएचएल, एम्बेस, साइकिनफो, कोचरन डेटाबेस, साइंस डायरेक्ट और शोध दल द्वारा पुनप्र्राप्त लेखों के संदर्भों का उपयोग करके एक साहित्य खोज की गई है।
डेटा को दो समीक्षकों द्वारा मूल रिपोर्ट से स्वतंत्र रूप से निकाला गया है।
इस एकीकृत व्यवस्थित समीक्षा ने अधेड़ उम्र के लोगों में पुराने दर्द के स्व-प्रबंधन से संबंधित स्मार्टफोन एप्लिकेशन पर विचार करते हुए 10 लेखों की पहचान की।
हालांकि, शोधकतार्ओं ने यह भी कहा कि भविष्य के शोध के लिए न केवल स्मार्टफोन पहल के प्रभावों की जांच करना महत्वपूर्ण है, बल्कि मौजूदा उपचार विधियों के संबंध में उनकी सुरक्षा, स्वीकार्यता, प्रभावकारिता और लागत-लाभ अनुपात की तुलना करना भी महत्वपूर्ण है।

Previous123456789...381382Next